Breaking News

ब्रांडेड की जगह बाज़ार में उपलब्ध जेनेरिक दवाइयों का करें इस्तेमाल GHAZIABAD

विनोद गिरि / गाज़ियाबाद voice

जन औषधि सप्ताह 2021 के तहत मंगलवार को जेनेरिक दवाइयों पर एक  परिचर्चा सेंट्रल पार्क होटल, कौशांबी में रखी गई. इसमें मुख्य अतिथि कमल हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ टी एस अरोड़ा (ऑर्थोपेडिक सर्जन) व क्षेत्रीय पार्षद मनोज गोयल रहे.

उन्होंने अपने विचार व्यक्त करते हुए जेनेरिक दवाइयों के बारे में विस्तार से बताया. डॉ टी एस अरोड़ा ने कहा कि जेनेरिक दवाई और ब्रांडेड दवाई एक समान है. ब्रांडेड दवाई की मार्केटिंग में बहुत बहुत खर्च आता है इसलिए कई हाथों द्वारा वह बाजार में आती है. इसलिए इसकी कीमत कई गुना बढ़ जाती है. वहीँ, जेनेरिक दवाई बिना किसी प्रचार के सीधे दुकानदार ग्राहकों को देते हैं जिससे इसकी कीमत काफी कम हो जाती है.

डॉ टी एस अरोड़ा ने बताया कि दोनों का समान साल्ट होता है. यहां तक की अगर कोई दवाई बनाने वाली कंपनी 20,000 टैबलेट या कैप्सूल बनाती है तो 15,000 ब्रांड को तथा 5000 गोलियां जेनेरिक होती हैं. स्थानीय पार्षद मनोज गोयल ने लोगों से अपील की कि बिना झिझक प्रधानमंत्री की इस योजना का लाभ उठाते हुए इन दवाइयों का उपयोग कीजिए. अगर कोई डॉक्टर आपको कोई और दवाई लिखता है तो उनसे बोलिए कि वह इसका साल्ट भी लिखें ताकि आपको यह दवाई लेने में आसानी हो.

इस अवसर पर प्रधान मंत्री जन औषधि केंद्र कौशांबी के डायरेक्टर सुरेश मित्तल, एसआर सिंह, अवधेश कटियार, सतीश रूस्तगी, रंजना झा, देवेंद्र भारद्वाज, नवीन उप्पल, पूजा मेहरा, कामिनी भदोरिया, सरोज वर्मा, रितु वर्मा, गुलशन सदाना, सुभाष चावला, सुरेंद्र सिंह, सत्य प्रकाश खंडेलवाल, गुलाब सिंह, पंकज खेड़ा, गौरव सिंह सहित क्षेत्र के अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …