Breaking News

पीआरपी थैरेपी के जरिये हड्डियों/जोड़ों के दर्द का इलाज हुआ आसान GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice

साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में बुधवार को पीआरपी थैरेपी का शुभारम्भ किया गया. अत्याधुनिक पीआरपी अल्ट्रा मशीन के जरिये पहली थैरेपी श्रेया हॉस्पिटल के निदेशक डॉ के सी मिश्रा को दी गयी. हड्डियों/जोड़ों के दर्द व बाल झड़ने जैसी परेशानियों से निजात पाने के लिए यह थैरेपी बेहद कारगर है. हॉस्पिटल का दावा है कि पीआरपी अल्ट्रा मशीन गाज़ियाबाद के चुनिन्दा अस्पतालों में ही उपलब्ध है.

श्रेया हॉस्पिटल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ देव मिश्रा व मेडिकल टीम ने 75 वर्षीय डॉ के सी मिश्रा के शरीर से इंजेक्शन के जरिये 20 एमएल खून निकाल कर उसे पीआरपी अल्ट्रा मशीन में रखा व थैरेपी साईकल शुरू किया. जिसके बाद उक्त खून में से प्लेटलेट्स और प्लाज़्मा अलग हो गया. करीब 20 मिनट के बाद उक्त प्लेटलेट को डॉ के सी मिश्रा के पैर के घुटने में हड्डियों के जॉइंट के बीच में (जहाँ अक्सर दर्द कि शिकायत थी) में इंजेक्शन के जरिये ही इंजेक्ट कर दिया.

डॉ देव मिश्रा ने बताया कि इस पूरी प्रक्रिया में मरीज को कोई तकलीफ नहीं होती. पीआरपी ट्रीटमेंट को प्लेटलेट्स रिच प्लाज्मा ट्रीटमेंट के तौर पर जाना जाता है. इसके लिए जिस व्यक्ति का इलाज किया जाता है, उसका ही ब्लड उपयोग में लाया जाता है. इसे करीब 20 मिनट तक पीआरपी अल्ट्रा मशीन में रख कर साईकल जाता है जिससे प्लेटलेट्स के साथ प्लाज्मा ट्यूब में इकट्ठा हो जाए.

श्रेया हॉस्पिटल के प्रबंधक एसपी तिवारी व हिमांशु खटनानी ने बाताया कि पीआरपी चिकित्सा मांसपेशियों, टेंडन (मांसपेशी को हड्डियों से जोड़ने वाले टिश्यू) और लिंग्मेंट (दो हड्डियों को आपस में जोड़ने वाले जोड़ों के टिश्यू) में चोटों के इलाज के लिए बहुत ही तेजी से लोकप्रिय हुई है. स्पोर्ट्स मेडिसिन व ऑर्थोपैडिक प्रैक्टिस में यह थैरेपी बेहद कारगर है और तेजी से इसका प्रचलन बढ़ रहा है. आमतौर पर हड्डियों/जोड़ों के दर्द आदि से छुटकारे के लिए घुटना प्रत्यर्पण आदि कराया जाता हो जो उपचार के दौरान मरीज के लिए कष्टदायक व खर्चीला होता है. ऐसे लोगों के लिए भी पीआरपी थैरेपी कारगर है. पूरी तरह दर्द से छुटकारे के लिए मरीज को 15 से 30 दिन के अंतराल में तीन सिटींग लेनी होती है. यह थैरेपी किफायती व कारगर भी है. हड्डियों/जोड़ों के दर्द के साथ ही यह थैरेपी बालों के झड़ने व त्वचा सम्बंधित बीमारियों में भी बेहद कारगर है.    

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …