Breaking News

खाने की थाली लेकर ज़मीन बैठ गए टिकैत, बोले- तिजोरी में बंद नहीं होने दूंगा किसानों की रोटी GHAZIABAD

विनोद गिरि / गाज़ियाबाद voice

नए कृषि बिल के वापसी की मांग को लेकर किसान संगठनों का आन्दोलन लगातार जारी है. 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के बाद हुए उपद्रव के बाद आन्दोलन ख़त्म होता नज़र आ रहा था लेकिन भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता के भावुक संदेश के बाद रुख पलटा और दिल्ली/गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की तादाद पहले से भी ज्यादा हो गयी. आंदोलित किसानों की बढ़ती संख्या के साथ ही राकेश टिकैत बेहद साढ़े अंदाज़ में इस आन्दोलन को आगे बढ़ाते हुए दिखाई दे रहे हैं.

आन्दोलन को नयी रूपरेखा के साथ आन्दोलन को आगे बढ़ाते टिकैत केंद्र सरकार के खिलाफ सख्त तो विपक्षी पार्टियों के प्रति नरम रुख अख्तियार कर रहे हैं. वहीँ, वह लगातार इस तरह की प्रतिक्रियाएं देते नज़र आ रहे हैं जो किसान और आम आदमी को भावुक संदेश दे.     

मंगलवार को भी राकेश टिकैत खाने की थाली हाथ में लेकर गाजीपुर बॉर्डर स्थित आन्दोलन स्थल पर दिल्ली पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड के पास जा पहुंचे. वह उस बैरिकेड के सामने ही नीचे बैठ गए जिस पर लगे बैनर पर लिखा था कि यहाँ धारा 144 लागू है और किसी तरह के एकत्रित होने या प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है, और खाना खाने लगे.

इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं किसान और गरीब की रोटी को तिजोरी में बंद नहीं होने दूंगा. वह यह भी बोले कि गाजीपुर बॉर्डर आन्दोलन स्थल है और बिल वापसी तक हम यह पॉइंट नहीं छोड़ेंगे. टिकैत ने यह भी कहा कि सरकार हमें रोकने की लाख कोशिश कर ले, हमारा खाना पीना बंद कर दे, लेकिन हम किसान हैं जमीन से जुड़े व्यक्ति हैं. हमारा आंदोलन जारी रहेगा. उन्होंने इस दौरान ली गयी तस्वीर अपने ट्वीटर हैंडल से शेयर भी की.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …