Breaking News

परिवार को बंधक बना बदमाशों ने डाली डकैती, लौटते वक़्त बोले- गलती हुई हो तो माफ़ करना GHAZIABAD

संजय गिरि / गाज़ियाबाद voice

गाज़ियाबाद में इन दिनों बदमाशों के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि वह लगातार आपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहे हैं. बीती रात भी बदमाशों ने परिवार को बंधक बना कर व बच्चे को गन पॉइंट पर लेकर डकैती की सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया. बदमाश घर से करीब 8 लाख रुपये कीमत की ज्वेलरी व 2 लाख रुपये नकदी लूट कर फरार हो गए. पीड़ित परिवार ने डकैती की इस वारदात में किसी परिचित के शामिल होने कि आशंका जताई है. पुलिस शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर मामले की तफ्तीश व बदमाशों की धरपकड़ में जुटी है.

बताओ– नकदी व ज्वेलरी कहां रखी है

गाज़ियाबाद के कविनगर थाना क्षेत्र के मकान नंबर जी-14, सेक्टर-8, चिरंजीव विहार निवासी भोपाल शर्मा और उनके परिवार के अन्य सदस्य सोमवार/शनिवार कि मध्यरात्री करीब 2 बजे गहरी नींद में सो रहे थे. तभी किचन की खिड़की की ग्रिल निकाल कर 7 बदमाश घर में घुस गए. वह घर में लूटपाट करने लगे तो घर में सो रहे लोगों की नींद खुल गई और उन्होंने शोर मचाने की कोशिश की. बदमाशों ने घर के सदस्यों से कहा कि बताओ ज्वेलरी व नकदी घर में कहाँ रखी है.

डकैती की वारदात के बाद दहशत में पीड़ित परिवार

8 माह के बच्चे को लिया गन पॉइंट पर

लूट का विरोध करने पर हथियारों से लैस बदमाशों ने भोपाल शर्मा के दामाद विकास को बंधक बना लिया. साथ ही आठ माह के बच्चे को गन पॉइंट पर लेकर सबको आतंकित कर दिया. यही नहीं, भोपाल शर्मा कि दो विवाहित बेटियों, दो नातिनों हाथ बांधकर उनके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया और उनके साथ बदसलूकी व मारपीट की. कुछ लोगों को बदमाशों ने बाथरूम में बंद कर दिया. इसके बाद बदमाश सुबह करीब 4:30 बजे तक पूरे घर को खंगालते रहे. पुलिस को दी शिकायत में भोपाल सिंह ने बताया कि बदमाश घर से करीब 8 लाख रुपये कि ज्वेलरी व 2 लाख रुपये कि नकदी लूटकर फरार हो गए.

वारदात के बाद घर में बिखरा पडा सामान

गलती हुई हो तो माफ़ करना

लूट के दौरान बदमाशों ने पीड़ित भोपाल शर्मा के दामाद विकास को कहा कि तुम मेहमान हो, गलती हुई हो तो माफ़ कर देना. यही नहीं, बदमाशों ने उन्हें पानी भी पिलाया. इससे बदमाशों के परिचित होने का अंदेशा जताया जा रहा है.

बेटे के साले पर जताया शक

भोपाल शर्मा केदारनाथ बाढ़ आपदा के पीड़ित हैं. वर्ष 2013 में केदारनाथ घूमने गए उनके बेटे, पुत्रवधू और पोते समेत छह लोगों की बाढ़ आपदा में मौत हो गई थी. भोपाल शर्मा ने पुलिस को बताया कि उनके बेटे के बाद उसके साले दीपक ने घर पर कब्ज़ा कर लिया था. जिसे पुलिस व प्रशासन कि मदद से कब्जामुक्त कराया था. भोपाल शर्मा ने डकैती कि वारदात के पीछे बेटे के साले दीपक का हाथ होने का अंदेशा जताते हुए जांच कि मांग की है.

खिड़की की इसी ग्रिल को निकाल कर घर में दाखिल हुए थे बदमाश

पुलिस जुटी बदमाशों की धरपकड़ में    

इस बारे में बात करने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर गहनता से छानबीन की जा रही है. पुलिस ने परिवार के सदस्यों से वारदात की पूरी जानकारी लेने के साथ सीसीटीवी कैमरों के फुटेज को भी खंगाला है. जिसमे सामने आया है कि घर में लगे सीसीटीवी कैमरे खराब थे लेकिन आस-पास के एरिया लगे सीसीटीवी कैमरों में बदमाशों की कुछ तस्वीरें कैद हुई हैं.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …