Breaking News

100 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग ने कोरोना को दी मात GHAZIABAD

संजय गिरि / गाज़ियाबाद voice   

कोविड-19 को लेकर देश-विदेश में भले ही लोगों में भय व्याप्त है लेकिन ऐसे भी लोग हैं जिनकी हिम्मत और हौसले के आगे कोरोना कहीं तक नहीं टिकता. ऐसे ही एक बुजुर्ग ने कोरोना को मात दी है. गाज़ियाबाद के कौशाम्बी स्थित यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में उपचार करा रहे सौ साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग कोरोना को मात देकर पूरी तरह स्वस्थ हो गए और अपने परिवार के बीच पहुंचे.

परिवार के सदस्य भी थे कोरोना संक्रमित

यशोदा हॉस्पिटल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ सुनील डागर ने बताया कि राजनगर, गाजियाबाद निवासी 100 साल से अधिक के कोविड-19 पॉजिटिव बुजुर्ग मांगे राम रावत अपने परिवार के अन्य सदस्यों, जो सभी कोविड-19 पॉजिटिव थे, के साथ यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी में 18 अगस्त 2020 को भर्ती हुए थे. बुजुर्ग मांगे राम को 15 दिनों से बुखार की शिकायत थी और 4-5 दिनों से खांसी थी और शरीर में कमजोरी थी. भूख भी कम लग रही थी.

 स्वस्थ होने के बाद डॉक्टरों का आभार जताया

हॉस्पिटल में डॉक्टरों की देखरेख में उनका उपचार चला. मांगे राम को उनकी हालत में सुधार होने के बाद अस्पताल से 24 अगस्त को छुट्टी दे दी गयी. उन्होंने हॉस्पिटल से छुट्टी दिए जाने के बाद अस्पताल के सभी डॉक्टरों एवं नर्सों का हृदय से आभार व्यक्त करते हुए कहा कि अस्पताल ने उनकी जान बचा ली. साथ ही उन्होंने डॉक्टरों एवं नर्सों को अपना आशीर्वाद दिया तथा साथ ही उनका इलाज कर रहे यशोदा हॉस्पिटल डॉक्टरों वरिष्ठ फेफड़ा रोग विशेषज्ञ प्रोफेसर डॉ आर के मणि, डॉक्टर के के पांडे, डॉक्टर अर्जुन खन्ना एवं डॉ अंकित सिन्हा की टीम एवं वरिष्ठ ह्रदय रोग विशेषज्ञ डॉ असित खन्ना एवं वरिष्ठ फिजिशियन डॉ ए पी सिंह का भी ह्रदय से आभार व्यक्त किया.

स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने मेडिकल स्टाफ कि की तारीफ़  

हॉस्पिटल में ही भर्ती उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य राज्यमंत्री एवं गाजियाबाद के विधायक अतुल गर्ग जो कोरोना संक्रमण के चलते ही भर्ती हैं उनकी जानकारी में जब यह बात गयी उन्होंने हर्ष का अनुभव करते हुए समस्त डॉक्टरों एवं हॉस्पिटल की नर्सों एवं स्टाफ की तारीफ़ करते हुए कहा कि आप सबके प्रयास से 100 वर्ष से अधिक के कोरोना मरीज को बचा लिया गया यह एक अभूतपूर्व मिसाल है.

अस्पताल की डायरेक्टर श्रीमती उपासना अरोड़ा ने बताया कि इससे पहले भी हॉस्पिटल में बुजुर्ग लोगों की कोविड-19 बीमारी से जान बचाई जा चुकी है और हमारा सतत निरंतर प्रयास फलदायी रहा है.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …