Breaking News

दोस्त को छोड़ दिल्ली से लौट रहे छात्र की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत Ghaziabad News

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice

साहिबाबाद के शालीमार गार्डन निवासी छात्र की दिल्ली के वजीराबाद थाना क्षेत्र में हादसे में दर्दनाक मौत हो गयी. छात्र बुधवार की देर शाम अपने दोस्त के साथ कार से दिल्ली के उत्तम नगर से घर लौट रहा था. रास्ते में आउटर रिंग रोड, वजीराबाद पुल पर गोपालपुर गाँव के सामने वह कार रुकवाकर टॉयलेट करने के लिए उतरा और सड़क किनारे जाने लगा. तभी पीछे से तेज गति से अनियंत्रित ट्रक आया और कार में टक्कर मारने के बाद उसे घसीटते हुए सड़क किनारे गहराई में जा पलटा. हादसे में छात्र की दर्दनाक मौत हो गयी. वहीँ, लोगों ने नशे में धुत्त ट्रक चालक की पिटाई के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया.

घर लौट रहे थे अंकुर व शुभम

साहिबाबाद के शालीमार गार्डन एक्सटेंशन-2 संख्या ए-164 स्थित अपार्टमेंट के फ्लैट निवासी बीरेंदर सिंह रावत का पुत्र अंकुर रावत (19) कोरसपॉडेंस से बी कॉम की पढ़ाई कर रहा था. साथ ही वह बी-ब्लॉक में दोस्त शुभम कुमार सिंह के साथ म्यूजिक स्टूडियो से भी जुड़ा था. बुधवार की शाम शुभम व अंकुर रेनौल्ट क्विड कार से अपने एक अन्य दोस्त को छोड़ने दिल्ली के उत्तम नगर गए थे. दोस्त को छोड़ने के बाद दोनों घर लौट रहे थे.

घसीटने के बाद 20 फुट गहराई में पलटा ट्रक

दोनों आउटर रिंग रोड पर वजीराबाद थाना क्षेत्र स्थित गोपालपुर गाँव के सामने पहुंचे तो अंकुर ने टॉयलेट आने की बात कहते हुए कार रुकवाई और सड़क किनारे जाने लगा. तभी पीछे से तेज स्पीड से ट्रक आया और अनियंत्रित होकर अंकुर को टक्कर मारी फिर घसीटते हुए सड़क किनारे करीब 20 फुट गहराई में जा पलटा. कुछ ही देर में वहां लोगों की भीड़ एकत्रित हो गयी. लोगों ने ट्रक ड्राईवर को पकड़ा तो वह शराब के नशे में बुरी तरह धुत्त था. जिसके बाद लोगों ने उसकी पिटाई कर उसे पुलिस के हवाले कर दिया.

लोगों की मदद से दोस्त शुभम ले गया ट्रामा सेंटर

वहीँ शुभम ने लोगों की मदद से अंकुर को किसी तरह वहाँ से निकालकर ट्रामा सेंटर पहुंचाया जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. सूचना मिलने पर अंकुर व शुभम के परिजन घटनास्थल पर पहुंचे. शुभम की शिकायत पर दिल्ली के वजीराबाद थाने में आरोपी ट्रक चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है.

अंकुर के साथ ही शुभम के परिवार में भी है शोक का माहौल

गुरुवार को अंकुर का शव पोस्ट मार्टम के बाद परिजनों को सौंपा गया. जिसके बाद परिजन शव को शालीमार गार्डन निवास पर लाये और फिर हिंडन मोक्ष स्थल पर अंतिम संस्कार किया गया. अंकुर की मौत के बाद घर में कोहराम मच गया. परिजनों का रो रोकर बुरा था. वह अपने माँ-पिता का इकलौता बेटा था. वहीँ शुभम भी भाई जैसा अपना दोस्त खोने के गम से नहीं उबर पा रहा है. शुभम के पिता डॉ वीके सिंह व अन्य अंकुर को परिवार के सदस्य की तरह ही मानते और लाड-प्यार देते थे. ऐसे में अंकुर के जाने के बाद उनके परिवार में भी गम का माहौल है.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …