Breaking News

डोर-टू-डोर गोबर कलेक्शन के लिए नगर निगम ने किया पायलेट प्रोजेक्ट का शुभारंभ GHAZIABAD

विनोद गिरि / गाज़ियाबाद voice

गाजियाबाद नगर निगम ने शहर भर को गोबर की समस्या से निजात दिलाने के लिए नयी पहल की है. महापौर आशा शर्मा व नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर के नेतृत्व में गाजियाबाद नगर निगम द्वारा शहर में व्याप्त डेयरियों के गोबर से गन्दगी व अन्य समस्याओं से छुटकारे के लिए पायलट प्रोजेक्ट का शुभारम्भ किया है.

नगर निगम द्वारा गोबर की समस्या का निस्तारण हेतु वसुंधरा जोन स्थित वार्ड 21 भोवापुर, मोहन नगर जोन स्थित जनकपुरी वार्ड 70 की डेयरियों से डोर-टू-डोर गोबर कलेक्शन अभियान की शुरुआत की गई है. माना जा रहा है कि नगर निगम की इस पहल से शहर को स्वच्छ रखने में मदद मिलेगी.

नगर निगम अधिकारियों के मुताबिक़ प्रतिदिन 10 रुपये प्रति भैंस या गाय के गोबर के अनुसार अल्प शुल्क लेकर गाजियाबाद नगर निगम वसुंधरा जोन व मोहन नगर जोन में शुरुआती दौर में गोबर कलेक्शन का कार्य प्रारंभ कर चुका है. इसके अंतर्गत कुल 46 डेयरियां तथा कुल 523 पशु हैं जिनका गोबर नगर निगम द्वारा डेयरियों से उठाकर निश्चित स्थान पर ले जाया जाता है. निगम अब प्रत्येक जोन में इस योजना को अमल में लाने वाला है.

नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथिलेश द्वारा बताया गया कि इस प्रकार की योजना से शहर की स्वच्छता को बढ़ावा मिलेगा. जो गोबर डेयरी वाले नाले व नालियों में खुले में बहा देते थे, अब वह उसी गोबर को गाजियाबाद नगर निगम को सौंपेंगे तथा गाजियाबाद नगर निगम के इस सफल प्रयास से शहर को स्वच्छ रखने में बढ़ावा मिलेगा.

उन्होंने बताया कि शहर से एकत्र किए गए गोबर का सदुपयोग खाद तथा अन्य कार्यों के लिए किया जाएगा जिससे गाजियाबाद निगम के व्यय में कमी आएगी. साथ ही कहा कि मोहन नगर जोन तथा वसुंधरा जोन के    आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों तथा पार्षदों का विशेष योगदान गाजियाबाद नगर निगम की योजनाओं में मिल रहा है.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …