Breaking News

गाज़ियाबाद में देश का पहला अनोखा मंदिर, यहां होगी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की पूजा…Ghaziabad News

दीपक शर्मा / गाज़ियाबाद voice

देश भर में विभिन्न स्थानों पर सभी धर्मों के लिए मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा व गिरजाघर तो आपने खूब देखे होंगे. लेकिन देश की राजधानी दिल्ली से सटे गाज़ियाबाद में एक अनोखा मंदिर तैयार हो रहा है. जी हां, मेरठ रोड के सेवा नगर स्थित बालनाथ आश्रम में बन रहे इस भव्य मंदिर में देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहूति देने वाले शहीदों की पूजा अर्चना होगी. यह देश का पहला ऐसा मंदिर होगा जहां किसी भगवान या इष्ट देवता की मूर्ति नहीं बल्कि देश की आज़ादी और भारत माँ की आन, बान और शान के लिए खुद को कुर्बान करने वाले शहीदों की मूर्तियां स्थापित की जाएंगी.

शहीदों के परिजन हुए थे शिलान्यास में शामिल

शहीद मंदिर ट्रस्ट के संचालक स्वामी बाल नाथ जी ने बताया कि 22 अप्रैल 2016 को विधि विधान के साथ शहीद मंदिर का शिलान्यास हो चुका है. खास बात यह है कि शहीद चंद्रशेखर आजाद के परिजन, लाला जगत नारायण के पुत्र विजय चोपड़ा, महान स्वतंत्रता सेनानी शहीद ए आजम व मंगल पांडे के परिजन और धौलाना व आसपास के इलाको में रह रहे शहीदों के परिजन इस शिलान्यास समारोह के साक्षी बने थे. अब मंदिर के निर्माण का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है. मंदिर में सभी स्वतंत्रता सेनानियों की तस्वीरों के साथ प्रतिमाएं भी स्थापित की जाएंगी.  

लोगों के जेहन में रहना चाहिए शहीदों का बलिदान

स्वामी बालनाथ ने कहा कि शहीदों का बलिदान देश के हर नागरिक के जेहन में रहना चाहिए. देश को स्वतंत्रता दिलाने वाले पराक्रमी वीर शहीदों की राष्ट्रभक्ति, उनके त्याग और बलिदान के बारे में सभी को जानकारी रहनी चाहिए. इसी अभिलाषा के साथ उन्होंने शहीद मंदिर बनाने का अभियान शुरू किया है. उन्होंने कहा कि शहीद मंदिर में देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों की पूजा-अर्चना होगी.

शहीदों के इतिहास की पुस्तकें भी होंगी मंदिर में

उन्होंने कहा कि शहीद मंदिर में शहीदों के इतिहास और साहित्य से संबंधित पुस्तकें भी रखी जाएंगी ताकि युवा पीढ़ी यह जान सके कि इस देश को आजाद कराने और सरहदों की रक्षा करने में वीर शहीदों का कितना बड़ा योगदान दिया है. उनके योगदान के चलते ही आज पूरा देश खुले में सांस ले रहा है. साथ ही उन्होंने जानकारी दी कि मंदिर निर्माण में कोई सरकारी अनुदान नहीं लिया जा रहा है बल्कि इस महत्वाकांक्षी पहल में समाज से जुड़े लोग आर्थिक सहयोग कर रहे हैं.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …