Breaking News

आठ माह के मासूम बेटे के सामने पति-पत्नी ने फांसी लगाकर दे दी जान, मौत से पहले बहन को किया मैसेज Ghaziabad News

संजय गिरि / गाज़ियाबाद

गाज़ियाबाद के इंदिरापुरम में पति-पत्नी ने अपने आठ माह के बच्चे के सामने रहस्यमय परिस्थितियों में फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली. पति ने फ्लैट के बेडरूम में लगे पंखे से लटककर जान दी तो पत्नी ने पहले हाथ की नस काटी फिर ड्राइंग रूम के पंखे से लटककर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली. मौत से पहले पत्नी ने ग्रेटर नॉएडा में रहने वाली अपनी बहन को एसएमएस भी किया कि सुबह घर आ जाना बेटा घर पर अकेला होगा. शुक्रवार सुबह होते ही घटना का पता चला तो हडकंप मच गया. सूचना मिलते ही पुलिस व फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची और दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम के लिए भेजा.

इंदिरापुरम में किराये पर रहता था दंपत्ति

मूल रूप से बिहार के पटना निवासी निखिल (30) पत्नी पल्लवी (29) व आठ माह के बेटे के साथ गाज़ियाबाद के इंदिरापुरम स्थित ज्ञान खंड-1 प्लाट नंबर 348 पर बनी इमारत की दूसरी मंजिल के फ्लैट में किराये पर रह रहे थे. निखिल निजी कंपनी में सेल्स मैनेजर के पद पर काम कर रहे थे. वहीँ, पल्लवी पहले जॉब करती थीं लेकिन बेटा होने के बाद से नौकरी छोड़ दी थी. गुरुवार की देर रात दोनों ने रहस्यमय परिस्थितियों में अपनी जान दे दी.

मौते से पहले बहन को किया एसएमएस

पुलिस की मुताबिक गुरुवार की देर रात व शुक्रवार को तड़के 3:46 बजे पल्लवी ने ग्रेटर नॉएडा स्थित गौड़ सिटी में रहने वाली बहन अंजलि व जीजा का फ़ोन किया लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुई. जिसके बाद पल्लवी ने अंजलि के फ़ोन पर एसएमएस किया कि “सुबह घर आ जाना बेटा घर पर अकेला होगा”. सुबह अंजलि की नींद खुली तो उसने मिस कॉल और एसएमएस देखते ही पल्लवी और निखिल को फ़ोन किया लेकिन उनकी कॉल रिसीव नहीं हुई.

सहेली को कॉल कर निखिल के घर भेजा

जिसके बाद अंजलि घबरा गई और उसने इंदिरापुरम में रहने वाली अपनी सहेली को कॉल कर निखिल के घर जाकर देखने को कहा. अंजलि की सहेली निखिल के फ्लैट पर पहुँचीं तो देखा कि मेन गेट अनलॉक था. फ्लैट में घुसते ही उनकी नज़र ड्राइंग रूम में पंखे से लटके पल्लवी शव पर पड़ी. वह चिल्लाती हुई बाहर निकलीं और बदहवास हो गयी. इसकी जानकारी मिलते ही आसपास के लोग वहां एकत्रित हो गए. सुबह करीब छह बजे पल्लवी की बहन और परिचित भी वहां पहुँच गए.

फांसी लगाने से पहले काटी थी हाथ की नस

सूचना मिलते ही सीओ इंदिरापुरम अंशु जैन, इंदिरापुरम थाना प्रभारी पुलिस व फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंचे. पल्लवी के बायें हाथ की नस कटी थी और शव ड्राइंग रूम में पंखे से लटका था. नज़दीक ही आठ माह का मासूम माँ को निहार रहा था. वहीँ, फ्लैट के बेड रूम में निखिल का शव पंखे से लटका था. पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम के लिए भेजा. वहीँ फॉरेंसिक टीम ने आसपास से साक्ष्य एकत्रित किये.

मौत के सही कारणों की पड़ताल कर रही पुलिस

पुलिस के मुताबिक़ मौके से कोई स्युसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है. पुलिस ने निखिल के परिचितों व आस पड़ोसियों से भी बात की लेकिन शुरूआती जांच में मौत के पीछे के कारणों की सही जानकारी नहीं मिल सकी. पुलिस का कहना है कि पोस्ट मार्टम रिपोर्ट  के बाद मौत के सही कारणों की जानकारी मिल सकेगी. वहीँ पुलिस इन बिन्दुओं पर जांच कर रही है कि दोनों की मौत के पीछे आर्थिक तंगी, गृह क्लेश या अन्य क्या कारण रहे.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …