Breaking News

गाजीपुर बार्डर : दिल्ली पुलिस ने खोली दिल्ली-गाजियाबाद लेन, दोपहर बाद फिर बंद की GHAZIABAD

विनोद गिरि / गाज़ियाबाद voice

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन के चलते पिछले कई दिनों से परेशानी का सामना कर रहे लोगों को मंगलवार को राहत मिली लेकिन कुछ ही देर के लिए. दरअसल, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर दिल्ली से गाजियाबाद आने वाली लेन मंगलवार की सुबह करीब आठ बजे दिल्ली पुलिस द्वारा खोल दी गई. दोपहर करीब एक बजे तक यह लेन खुली रही और ट्रैफिक भी फर्राटे भरता हुआ निकलता रहा. आंदोलनकारी किसानों की ओर से इस लेन को खोले जाने का स्वागत किया लेकिन दोपहर एक बजे के बाद दिल्ली पुलिस ने वहां फिर से बैरिकेडिंग लगा कर रास्ते को बंद कर दिया.

भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने कहा कि आंदोलन की ओर से बराबर दिल्ली पुलिस से यह मांग की जा रही है कि जिस प्रकार 26 जनवरी से पूर्व दिल्ली से गाजियाबाद की ओर आने वाली दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के लेन खुली हुई थी, उसे उसी प्रकार खुला रखा जाए ताकि इस रास्ते से आने-जाने वाले लोगों को परेशानी न हो.

उन्होंने कहा कि दो माह तक आंदोलन भी चलता रहा और एक लेन पर पर ट्रैफिक भी चलता रहा. इतना ही नहीं मंच वाली रोड पर भी एक लेन एंबुलेंस के लिए चालू रखी गई थी, जिस लेन दिल्ली की ओर जाने वाली एंबुलेंस जाती थीं. लेकिन 26 जनवरी के बाद दिल्ली पुलिस ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे को पूरी तरह बंद कर दिया जिससे लोगों को परेशानी हो रही है.  

मंगलवार सुबह यूपी गेट बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस ने दिल्ली से गाजियाबाद जाने वाले रोड को खोल दिया. दोपहर करीब एक बजे तक इस रोड के खुलने रहने से दिल्ली से गाजियाबाद के अलावा मेरठ, लालकुआं, डासना, हापुड़ की ओर जाने वालों को बड़ी राहत रही. 26 जनवरी के बाद से दिल्ली पुलिस ने यह रोड पूरी तरह बंद कर रखी है. इसके कारण गाजियाबाद, मेरठ, लालकुआं, डासना, हापुड़ की ओर जाने वाली गाड़ियों को आनंद विहार या फिर अप्सरा बार्डर से निकलना पड़ रहा था, जिससे सुबह-शाम को भारी जाम लगता था. आफिस लौटते समय लोगों का काफी समय बर्बाद हो रहा था.

धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि मंगलवार सुबह रोड खोली गई तो आंदोलन की ओर से इसका स्वागत किया गया. लेकिन दोपहर एक बजे के करीब दिल्ली पुलिस ने इस रोड को फिर से बंद कर दिया. बता दें कि तीन नए कृषि कानूनों को लेकर किसान 28 नवंबर से यूपी गेट (गाजीपुर बार्डर) पर गाजियाबाद से दिल्ली की ओर जाने वाली लेन पर आंदोलन कर रहे हैं.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …