Breaking News

वायुसेना दिवस से पहले फुल ड्रेस रिहर्सल, राफेल सहित अन्य विमानों ने दिखाई अपनी ताकत GHAZIABAD

संजय गिरि / गाज़ियाबाद voice  

88वें वायुसेना दिवस से पहले मंगलवार को गाज़ियाबाद स्थित हिंडन एयर बेस में फुल ड्रेस रिहर्सल का आयोजन हुआ. कोविड-19 के मद्देनज़र कम संख्या में दर्शकों की मौजूदगी के बीच वायुसेना के जवानों व विमानों ने हैरतअंगेज़ करतब दिखाए तो लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से उनका अभिनन्दन किया. हाल ही में वायुसेना के बेड़े में शामिल हुआ बेहद अत्याधुनिक व शक्तिशाली विमान राफेल आकर्षण का मुख्या केंद्र रहा.

हिंडन एयर बेस में आयोजित समारोह में आसमान में सुखोई-30 एमकेआई, मिराज 2000, जगुआर, मिग-29, ग्लोबमास्टर और हरक्युलिस विमानों से भारतीय जांबाजों ने कम संख्या में मौजूद दर्शकों के बीच हैरत अंगेज़ करतब दिखाए.

मंगलवार सुबह आठ बजे  फुल ड्रेस रिहर्सल में सबसे पहले आकाशगंगा पैराट्रूपर्स की टीम ने आठ हजार फीट की ऊंचाई से पैराशूट से समारोह स्थल पर जंप किया. पैराजंपर्स ने स्काई डाइविंग के कई करतब दिखाए तो लोग दांतों तले उँगलियाँ दबाने को मजबूर हो गए. इसके बाद परेड मार्च में वायु सेना के जवानों ने कदमताल किया और निशान टोली के मंच के सामने से गुजरते ही सभी जवानों ने सेल्यूट और कार्यक्रम में आए लोगों ने खड़े होकर अभिवादन किया.

पिछले साल रिहर्सल में अपाचे और चिनूक आकर्षण का मुख्य केंद्र रहे थे तो इस बार राफेल पर सभी की नजर रही. दुनिया के सबसे उन्नत और लड़ाकू विमानों में शुमार राफेल का करतब पहली बार वायुसेना के इस अभ्यास में शामिल हुआ. लड़ाकू विमान राफेल की आकाश में गर्जना सुनाई दी. जैसे ही आसमान में राफेल ने अपनी शक्ति और क्षमताओं का प्रदर्शन किया, वैसे ही माहौल में रोमांच भर गया. राफेल के साथ स्वदेशी तेजस विमान ने भी अपनी ताकत का एहसास कराया.

हिंडन एयरफोर्स स्टेशन में हर वर्ष हजारों दर्शकों के बीच फुल ड्रेस रिहर्सल देखने की व्यवस्था होती थी. मगर इस बार कोरोना महामारी की वजह से दर्शकों की मौजूदगी पचास फीसद से भी कम रही. 8 अक्टूबर को वायु सेना दिवस के दिन यहाँ तीनों सेनाओं के प्रमुख और पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर समेत कई देशों के प्रतिनिधि शिरकत करेंगे. इस सभी के बीच सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क व सैनिटाइजेशन की भी व्यवस्था की गई है.

Check Also

डॉ पीएन अरोड़ा हुए कोरोनावायरस पॉजिटिव, कहा – ओमिक्रोन से घबराने की नहीं सजग रहने की जरूरत

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice वरिष्ठ समाजसेवी एवं यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी गाजियाबाद के …