Breaking News

अमरीश त्यागी के कार्यकाल में श्यामा प्रसाद मुखर्जी महिला महाविद्यालय में विकास कार्यों को लगे पंख

संजय गिरि / गाज़ियाबाद voice

दिल्ली के श्यामा प्रसाद मुखर्जी महिला महाविद्यालय में अध्यक्ष पद पर आसीन रहते अमरीश त्यागी अनेकों विकास कार्य कराये. बतौर अध्यक्ष जब उन्होंने कार्यकाल संभाला तब महाविद्यालय परिसर में तमाम संसाधनों व सुविधाओं का अभाव था. जिन्हें लग्नशील व्यक्तित्व वाले अमरीश त्यागी ने एक-एक कर पूरा किया. गाज़ियाबाद निवासी अमरीश त्यागी को देश-विदेश में उनके काम की वजह से जाना जाता है. लेकिन जो बात आपको उनके व्यक्तित्व में सबसे ज्यादा प्रभावित करेगी वह है उनकी किसी कार्य को शुरू करके उसे अंजाम तक पहुंचाने की उनकी क्षमता.

विद्यार्थियों कि समस्याओं को गहराई से समझा

आज हम बात करेंगे उनके कार्यकाल में हुए विकास कार्यों की जो उन्होंने चेयरमैन पद पर रहते हुए श्यामा प्रसाद मुखर्जी महिला महाविद्यालय में किये. उनका अध्यक्ष के रूप में पिछले साल का कार्यकाल बहुत ही शानदार रहा, जिसमें उन्होंने कॉलेज में शिक्षा और बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में एक अहम भूमिका निभाई. साथ ही साथ उन्होंने विद्यार्थियों की समस्याओं को गहराई से समझा और उन्हें दूर करने का प्रयास किया. उनके द्वारा श्यामा प्रसाद मुखर्जी कॉलेज में बहुत से अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन कराए गए. उनके कार्यकाल में ही कॉलेज में दो पूरी तरह से सुसज्जित कॉन्फ्रेंस हॉल बने.

करोड़ों के विकास कार्य कराये कॉलेज में

यही नहीं, कॉलेज में नए शैक्षणिक ब्लॉक का उद्घाटन उनके द्वारा ही किया गया जिसे बनाने में 9 करोड़ रुपए की लागत आई. कॉलेज में 100 कारों के पार्किंग क्षेत्र के निर्माण के परियोजना का उद्घाटन भी उनके द्वारा ही किया गया. उनके मजबूत इरादों/प्रयासों से ही यूजीसी से दो करोड़ का अनुदान प्राप्त हुआ. साथ ही कॉलेज की पुरानी बाउंड्री वॉल, कॉलेज के नए गेट का निर्माण, एक मल्टी एक्टिविटी एयर कंडिशन्ड हॉल का शुरू हुआ. उनके ही कार्यकाल में महाविद्यालय में 120 केवीए सौर संयंत्र की स्थापना को मंजूरी मिली.

अध्यक्ष रहते कॉलेज से कभी नहीं लिया मेहनताना या भत्ता

स्वर्ण जयंती समारोह में भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी तथा देश  के कई अन्य गणमान्य व्यक्तियों को  आमंत्रित किया गया जिससे महाविद्यालय को देश में एक नई पहचान मिली. अमरीश त्यागी ने अभी तक के अपने कार्यकाल में ना तो कोई भत्ता न ही मेहनताना कॉलेज से लिया. बल्कि, उन्होंने अपनी तरफ से समय-समय पर कॉलेज और विद्यार्थियों की वित्तीय सहायता की, हाल ही में उन्होंने कॉलेज में साबुन और मास्क का वितरण किया.

युवाओं के लिए प्रेरणा हैं अमरीश

कोई भी व्यक्ति जो सामाजिक जीवन में सक्रिय होता है उसकी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि वह समाज और खासकर युवाओं के लिए प्रेरणा बने और उनके ह्रदय में एक अलग स्थान बना ले. एक ऐसी मिसाल पेश करे जिससे युवा उस व्यवहार को अपने जीवन में अपना सकें. अमरीश त्यागी इसी बात का अनुसरण करते हुए अपने व्यवहार से लोगों का दिल जीत लेते हैं.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …