Breaking News

काउंसिल ऑफ उद्योग व्यापार मंच ने किया बैठक का आयोजन, बजट पर जताई निराशा GHAZIABAD

दीपक शर्मा / गाज़ियाबाद voice 

काउंसिल ऑफ उद्योग व्यापार मंच के बैनरतले साहिबाबाद स्थित महानगर कार्यालय में व्यापारियों की बैठक का आयोजन किया गया. बैठक में यूपी सरकार द्वारा पेश किये गए बजट पर चर्चा की गयी.

बैठक में काउंसिल ऑफ उद्योग व्यापार मंच के महानगर अध्यक्ष अभिषेक सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश बजट 2021-22 में सरकार द्वारा 5,50,000 करोड़ का बजट उत्तर प्रदेश के लिए 2021-22 में रखा गया है. जिसमें पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर एक्सप्रेस-वे, गाजियाबाद-मेरठ कॉरिडोर के लिए धनराशि स्वीकृत की गई है. साथ ही अयोध्या में हवाई अड्डे का निर्माण के अतिरिक्त उत्तर प्रदेश के 4 जनपदों में अंतरराष्ट्रीय स्तर के हवाई अड्डे बनाने का भी प्रावधान किया जा रहा है.

मेट्रो के लिए भी आगरा, कानपुर एवं कई अन्य जनपदों में धन का स्वीकृति करण किया गया है. लगभग 13,000 करोड़ की लागत से सड़कों एवं ओवर ब्रिज का निर्माण भी होगा यह स्वागत योग्य है. किन्तु इस राजस्व में सबसे अधिक योगदान व्यापारी समाज का है और बजट में व्यापारी समाज की दुश्वारियों के निदान का कोई प्रावधान नहीं है.  

अभिषेक सिंह ने कहा कि व्यापारी समाज का यह स्पष्ट मानना है कि किसानों की तरह व्यापारियों को भी उत्तर प्रदेश सरकार को ब्याज मुक्त ऋण प्रदान करना चाहिए था ताकि कोविड-19 से व्यापारी वर्ग को राहत मिल सके. साथ ही बजट में डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस को जीएसटी के दायरे में लाने का भी एक प्रस्ताव किया जाता ताकि आम जनता और व्यापारी वर्ग को कुछ राहत प्राप्त होती. सीधे तौर पर तो सरकार ने उद्योग और व्यापार जगत को कोई राहत इस बजट में नहीं दी है.

Check Also

डॉ आर के मनी को कैपिटल फाउंडेशन अवार्ड से नवाज़ा गया

न्यूज़ डेस्क / गाज़ियाबाद VOICE दिल्ली स्थित इंडियन इंटरनेशनल सेंटर में रविवार को आयोजित कैपिटल …