Breaking News

एयर फोर्स डे पर आसमान में गरजे वायु सेना के विमान, दुनिया को कराया अपनी बेजोड़ ताकत का एहसास

संजय गिरि / गाज़ियाबाद voice

गाज़ियाबाद स्थित हिंडन एयर फोर्स स्टेशन पर गुरुवार को 88वां वायु सेना दिवस पूरे जोश के साथ मनाया गया. परेड से शुरू हुए आयोजन में वायु सेना के बेड़े में शामिल राफेल, तेजस, सुखोई, ग्लोब मास्टर, जगुआर के साथ ही सारंग आदि अत्याधुनिक विमानों ने आसमान में हैरतंगेज करतब दिखाये तो लोग दांतों तले उंगली दबाने को मजबूर हो गए. इस मौके पर वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने उत्कृष्ट सेवा प्रदान करने वाले जवानों को सम्मानित किया. उन्होंने कहा कि वह राष्ट्र को आश्वस्त करना चाहते हैं कि भारतीय वायु सेना और तेजी से विकसित होगी और देश की संप्रभुता और हितों की रक्षा के लिए हर वक्त हर तरह की परिस्थितियों का सामना करने के लिए तैयार रहेगी.

शान्ति हमारी संस्कृति में, लेकिन दुश्मन को नेस्तनाबूद करने में भी पीछे नहीं हम

एलएसी पर जारी तनाव के बीच वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने चीन को संदेश देते हुए कहा कि शान्ति हमारी संस्कृति में है और इसे बनाये रखने के लिए आगे भी प्रयासरत रहेंगे. हम बुरे वक़्त में अपने दोस्त पड़ोसी देशों की मदद के लिए खड़े रहते हैं. कोविड 19 के दौरान वायु सेना के परिवहन विमानों ने फंसे हुए विदेशियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया, साथ ही पड़ोसी देशों तक राहत सामग्री आदि पहुंचाकर अपनी ज़िम्मेदारी का एहसास कराया. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय वायु सेना दुश्मनों को मुहतोड़ जवाब देने और उन्हें नेस्तनाबूद करने में सक्षम है.  

89 वें वर्ष में प्रवेश कर रही है भारतीय वायु सेना

वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने कहा कि हम 89 वें वर्ष में प्रवेश कर रहे हैं. यह बेहद परिवर्तन वाला समय है. हमारे सामने साइबर हमले, ड्रोन निगरानी जैसी तमाम चुनौतियां हैं जिनसे निपटने में हम सक्षम हैं. देश में निर्मित ब्रह्मोस मिसाइल, रोहिणी रडार, तेजस विमान और आकाश मिसाइल सिस्टम वायु सेना की ताकत है. अब आने वाले समय में भी भारतीय तकनीक से विकसित विमान और मिसाइल सिस्टम वायुसेना का हिस्सा बनेंगे. इसके साथ ही इस साल के अंत तक भारतीय वायुसेना का पूरी तरह पेपरलेस वर्क करने का लक्ष्य है.

आकाशगंगा की पैराजम्पर टीम ने आठ हजार फीट की उंचाई से लगाई छलांग

हिंडन एयर फोर्स स्टेशन पर समारोह के दौरान चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह उपस्थित रहे. कार्यक्रम की शुरुआत पैराजंपर टीम आकाशगंगा के साथ हुई. टीम के सदस्य आठ हजार फीट की ऊंचाई से छलांग लगाकर पैराशूट से एयरफोर्स स्टेशन के परेड ग्राउंड पर उतरे तो लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से उनका अभिनन्दन किया.

निशान टोली का सभी ने खड़े हो कर किया सम्मान

इसके बाद स्क्वाड्रन लीडर शिवांगी राजावत के नेतृत्व में निशान टोली भारतीय वायु सेना के ध्वज के साथ मार्च पास्ट करती हुई गुजरी तो सभी सम्मान में खड़े हो गए. चिनूक हेलीकॉप्टर ने भारी-भरकम कंटेनर लेकर आसमान का रुख किया तो उसे देख रहे लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से स्वागत किया.

वायुसेना की ताकत बने विमानों का प्रदर्शन

समारोह में वायुसेना की ताकत बने सभी विमानों को दिखाया गया. इनमें विश्व के सबसे उन्नत लड़ाकू विमानों में शामिल राफेल, एयरबोर्न अर्ली वार्निंग सिस्टम, चिनूक हेलिकॉप्टर, मिग-29, आकाश मिसाइल, ध्रुव हेलिकॉप्टर, मिराज-2000, जगुआर, तेजस, सुखोई-30 एमकेआई, रोहिणी रडार सिस्टम, अपाचे हेलिकॉप्टर और सी-130जे सुपर हरक्यूलिस परिवहन विमान शामिल रहे.

हैरतंगेज करतब का प्रदर्शन कर साहस और शौर्य से कराया रूबरू

एयर फोर्स के बेड़े में शामिल लड़ाकू विमान राफेल, तेजस और सुखोई की तिकड़ी ने ट्रांसफार्मर फार्मेशन बनाकर आसमान में गरजे और अपनी ताकत का अनोखा प्रदर्शन किया. वहीँ, सूर्यकिरण एरोबेटिक्स टीम और सारंग हेलीकाप्टर टीम के सदस्यों ने आकाशीय करतब कर लोगों को रोमांचित किया. पुराने जमाने के विंटेज विमान टाइगरमोथ और डकोटा ने भी हर वर्ष की भांति अपने प्रदर्शन से लोगों को वायुसेना के एतिहासिक शौर्य से रूबरू करवाया.

वायुसेना ने बताई राफेल की खूबियाँ

वायुसेना ने राफेल की खूबियों के बारे बताते हुए कहा कि ‘राफेल हथियारों की एक विस्तृत श्रृंखला से लैस 4.5 पीढ़ी, ट्विन-इंजन ओम्नीरोल, वायु वर्चस्व, अंतर्विरोध, हवाई टोही, ग्राउंड सपोर्ट, इन-डेप्थ स्ट्राइक, जहाज-रोधी और परमाणु निवारक वाला लड़ाकू विमान है’

वायुसेना दिवस पर एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने वायुसैनिकों को सम्मानित किया.

युद्ध सेवा मेडल 

अति विशिष्ट सेवा मेडल– सुनील काशीनाथ

विशिष्ट सेवा मेडल– ग्रुप कैप्टन यशपाल नेगी

विशिष्ट सेवा मेडल– ग्रुप कैप्टन हेमंत कुमार

विशिष्ट सेवा मेडल– ग्रुप कैप्टन जोजेस

विशिष्ट सेवा मेडल– स्क्वाड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल

गैलेंट्री अवॉर्ड

ग्रुप कैप्टन प्रणब राज

ग्रुप कैप्टन दलेर सिंह

ग्रुप कैप्टन राजेश अग्रवाल

विंग कमांडर अमित रंजन

स्क्वाड्रन लीडर पंकज अरविंद

ग्रुप कैप्टन प्रभात मलिक

ग्रुप कैप्टन रामाराव

ग्रुप कैप्टन गिरीश

ग्रुप कैप्टन तरुण गुप्ता

ग्रुप कैप्टन प्रेम आनंद

ग्रुप कैप्टन सुमित गर्ग

ग्रुप कैप्टन सौरभ

ग्रुप कैप्टन समित गुप्ता

विशिष्ट सेवा मेडल

एयरवाइस मार्शल दलजीत सिंह

एयरवाइस मार्शल सुंदरम आनंदन

एयर कोमोडोर विजय जोशी ब्रिगेडियर संजय माथुर

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …