Breaking News

आंदोलनरत किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकालकर किया शक्ति प्रदर्शन, भरी हुंकार GHAZIABAD

संजय गिरि / गाज़ियाबाद voice

नए कृषि बिल को वापस लेने की मांग पर अड़े किसानों ने आज दिल्ली के तमाम सीमाओं पर ट्रैक्टर मार्च निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया. सरकार पर दबाव बढ़ाने की रणनीति के तहत हड्डियां गला देने वाली ठंड, बारिश और धुंध के बीच किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकाला. दिल्ली/यूपी के गाजीपुर बॉर्डर से ट्रैक्टर मार्च की अगुवाई करते हुए भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि ये गणतंत्र दिवस की रिहर्सल है. सरकार ने अब भी उनकी बात नहीं मानी तो 26 जनवरी को दिल्ली में जवान टैंक पर व किसान ट्रैक्टर पर होंगे. किसानों के इस मार्च को देखते हुए दिल्ली के बॉर्डर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई थी.

काफिले में शामिल होते रहे ट्रैक्टरों पर डटे किसान

पूर्व में की गई तैयारियों के तहत गुरुवार की सुबह 10 बजे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत करीब 300 ट्रैक्टर का काफिला लेकर दिल्ली/यूपी के गाजीपुर बॉर्डर से डासना के लिए निकले. मोदीनगर से चलकर दुहाई  होते हुए करीब 200 ट्रैक्टर डासना पहुंचे. इसी बीच हापुड़ के 150 से अधिक ट्रैक्टर पहले से ही डासना कट पर खड़े थे. इसके बाद बुलंदशहर के लगभग 150 से 250 ट्रैक्टर दनकौर कट पर स्वागत के लिए खड़े थे.

यमुना एक्सप्रेस-वे पर हुआ सभा का आयोजन

वहां से काफिला सिकंदराबाद पहुंचा और एक काफिले ने वहीं रुक कर राकेश टिकैत के साथ लंगर लिया. इसके बाद लगभग 300 ट्रैक्टर सिरसा कट से आगे बढे जहाँ नोएडा के लोग खड़े मिले व करीब 200 ट्रैक्टर जेवर तहसील के सिरसा के आगे पलवल की तरफ मिले. उधर से पलवल का काफिला भी यमुना एक्सप्रेस-वे के ऊपर मिला और वहीं पर एक सभा का आयोजन किया गया.

सरकार से लंबी लड़ाई के लिए तैयार हैं किसान : राकेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हम किसान लम्बे आंदोलन के लिए तैयार हैं. जब तक सरकार हमारी मांग नहीं मानेगी तब तक हम यहां आंदोलन खत्म नहीं करेंगे. यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव रतन सिंह सूरत, दिल्ली एनसीआर के अध्यक्ष सुभाष चौधरी, किसान संघ के शिवकुमार काका, बहन जसप्रीत, मास्टर मांगेराम चौहान, भारतीय किसान यूनियन के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष राजवीर जादौन, हरियाणा युवा इकाई के अध्यक्ष रवि आज़ाद, पवन खटाना सहित अन्य लोगों ने सभा को संबोधित किया. गौरव टिकट ने भी किसानों को संबोधित किया जिसके बाद दोनों तरफ के लोग लगभग 3:00 बजे अपने-अपने मोर्चा की तरफ रवाना हुए.

पुख्ता इंतजाम के साथ मौके पर डटे रहे पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी

किसानों के ट्रैक्टर मार्च को लेकर गाजीपुर से लेकर डासना और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर पुलिस-प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए थे. आईजी प्रवीण कुमार, डीएम अजय शंकर पांडेय, एसएसपी कलानिधि नैथानी और एसपी सिटी अभिषेक वर्मा किसानों के ट्रैक्टर मार्च के मद्देनजर अधिकारियों को निर्देश देते हुए दिखाई दिए. किसानों के ईस्टर्न पेरिफेरल से दादरी होते हुए पलवल जाने की योजना को देखते हुए पुलिस-प्रशासन ने दादरी व पलवल की ओर जाने वाले मार्ग पर ट्रैफिक को डायवर्ट किया था. किसानों के ट्रैक्टर मार्च में शामिल वाहनों के अलावा न तो डासना की ओर से आने वाले किसी अन्य वाहन और न ही हापुड़ से आने वाले वाहनों को ईस्टर्न पेरिफेरल पर चढ़ने नहीं दिया गया.

ट्रैक्टरों का स्टेयरिंग थामे महिला किसान भी थीं जोश से लबरेज

ट्रैक्टर मार्च में तिरंगे झंडों के साथ देशभक्ति के गीत गूंजते दिखाई दिए. मार्च में पुरुष किसानों के साथ महिला किसानों की भी भागीदारी रही. कई महिला किसान ट्रैक्टर चलाती हुई नजर आईं. ट्रैक्टर का स्टेयरिंग थामे महिला किसान जोश से लबरेज नज़र आ रही थीं.

Check Also

श्रेया हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन, कोरोना कर्मवीरों को किया गया सम्मानित GHAZIABAD

अभिषेक सिंह / गाज़ियाबाद voice साहिबाबाद के शालीमार गार्डन स्थित श्रेया हॉस्पिटल में विश्व फिजिओथेरेपी …